Monday, June 17, 2024
Homeगतिविधियाँगाथांतर एक छोटे से शहर की चुनौतियों भरी कोशिश है।

गाथांतर एक छोटे से शहर की चुनौतियों भरी कोशिश है।

गाथांतर एक छोटे से शहर की चुनौतियों भरी कोशिश है।पत्रिका 2014 में शुरू हुई और गिरते-पड़ते अपनी यात्रा में अनवरत् कभी प्रिंट तो कभी ब्लॉग आदि माध्यमों से आपके बीच बनी हुई है।यह पत्रिका से ज्यादा मुहिम है।वर्ष 2014से पत्रिका संपादक मंडल के साथियों ने गाथांतर सम्मान भी साथ ही साथ आरम्भ किया।अबतक जिन्हें यह सम्मान प्रदान किया गया उनके नाम इस प्रकार हैं-
1-रंगकर्मी ममता पंडित
2-पद्मश्री उषाकिरण खान
3-चन्द्रकला त्रिपाठी
4-किरण सिंह
5-गीताश्री
हम सभी सम्मानित लेखकों के प्रति आभार व्यक्त करते हैं ,आपने हमारे सीमित संसाधनों में प्रदान किए जानेवाले इस सम्मान का मान रखा।
पिछले दो वर्ष कोरोना संकट में बीते और तमाम लोगों को खोने का दुख हमारे साथ है। इन वर्षों को छोड़कर हम प्रकृति के दिखाए मार्ग का अनुसरण करते हुए वर्ष 2022के गाथांतर सम्मान की घोषणा करते हैं।
मित्रों !इस वर्ष से गाथांतर सम्मान पूर्णिमा स्मृति गाथांतर सम्मान के नाम से जाना जाएगा।भाई राहुल द्विवेदी इस वर्ष से यह सम्मान अपनी पत्नी स्मृति शेष पूर्णिमा के नाम से प्रदान करेंगे।यह सम्मान आज़मगढ़ में गाथांतर सम्मान समारोह में प्रदान किया जाएगा।
सम्मान साहित्य, संगीत, कला,रंगमंच एवं सामाजिक कार्यों में अपनी विशिष्ट पहचान बनानेवाली स्त्रियों को प्रदान किया जाता है।

वर्ष 2022 का पूर्णिमा स्मृति गाथांतर सम्मान युवा कवि रश्मि भारद्वाज को प्रदान करने की आज पूर्णिमा भाभी की पुण्य तिथि पर घोषणा की जाती है।
निर्णायक- डॉक्टर चन्द्रकला त्रिपाठी

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

error: Content is protected !!