Monday, June 17, 2024

रामेश्वरी नेहरु 

हिंदी साहित्य इतिहास में” स्त्री दर्पण” पत्रिका का विशेष स्थान है ।उसने बीसवीं सदी के आरंभ में हिंदी पट्टी में स्त्रियों की मुक्ति को लेकर अपनी महत्वपूर्ण ऐतिहासिक भूमिका निभाई ।।इलाहाबाद से 1909 में शुरू हुई यह पत्रिका करीब 20 वर्षों तक चली और इस पत्रिका की संपादक का रामेश्वरी देवी नेहरू थीं जो पंडित मोतीलाल नेहरू के भतीजे बृज लाल नेहरू की पत्नी थीं और इस पत्रिका का प्रबंधन  कमला नेहरू किया करती थीं ।रामेश्वरी देवी नेहरू का जन्म 1886 में हुआ था और उनका निधन 1966 में हुआ ।वह लोकसभा की सदस्य भी थीं। उन्होंने दिल्ली में स्त्रियों के उद्धार के लिए नारी निकेतन नाम की संस्था भी 1950 में खोली थी। “स्त्री दर्पण” पत्रिका में स्त्रियों से सम्बंधित हर तरह के लेख छपते थे।यह वेबसाइट उसी पत्रिका की स्मृति में शुरू की गई है।इसका मकसद डिजिटल प्लेटफार्म पर स्त्रियों से सम्बंधित हर तरह का साहित्य उपलब्ध कराना हौ।इस वेबसाइट के संवर्धन में आपसे हर तरह का सहयोग अपेक्षित है।

 

स्त्री दर्पण की वेबसाइट का लिंक देखें और अपने सुझाव दें
=======================================================================================

 
मित्रो कल बड़े धूमधाम से  दिल्ली विश्विद्यालय के किरोड़ीमल कालेज में स्त्री दर्पण की वेबसाइट लांच की  गयी।लोगों ने जिस तरह उसका स्वागत किया, स्त्री दर्पण की टीम आपके प्रति आभार व्यक्त करती है।
आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि दो माह में करींब 95 हज़ार लोगों से स्त्री दर्पण को देख।गत डेढ़ वर्षों मे कम से कम दस लाख लोगों ने इसेदेखा होगा।अब वेबसाइट के बनने से फ़ेसबुक के बाहर  भी लोग इसे देख सकेंगे।दुनिया में कहीं से आप इसे देख सकते हैं।
अब तक हिंदी समय और कविता कोश ही बड़े  वेबसाइट है ।रेख़्ता भी एक नई वेबसाइट है लेकिन हमने वेबसाइट में विविधता रखी है।इसमें वीडियो ऑडियो फोटो गैलरी और पोस्टर भी रखा है।
कविता कहानी तो है ही दलित विमर्श स्त्री नवजागरण  पुस्तक चर्चा पुस्तक समीक्षा और स्त्री विमर्श का भी पन्ना है।विरासत जयंती और जन्मदिन स्तम्भ भी है।
 इस वेबसाइट में हर लेखिका का एक पन्ना होगा जिसमें उनका फ़ोटो परिचय किताब कवर  उनकी दस चुनी रचनाएँ भी होंगी
आपसे अनुरोध है कि आप इस पन्ने से जुड़ें।
 हम कोई सरकारी या निजी संस्थान नहीं।यह वेबसाइट आपसी सहयोग से बन रही है।अगर आपको यह परियोजना पसंद आये तो 9968400416 पर संदेश दें
जुड़ने और सहयोग के लिए
 
अभी इस वेबसाइट पर कई चीजें अपलोड करनी है।जाहिर है यह काफी समय लेनेवाला और खर्चीला भी है।हम हज़ारों पोस्ट अपलोड नही कर सकते आपके सहयोग के बिना।
 
यह वेबसाइट हिंदी के प्रख्यात आलोचक नित्यानंद तिवारी प्रसिद्ध आलोचक एवम अध्येयता सुधा सिंह और हिंदी की पांच कवयित्रियों की उपस्थिति में यह वेबसाइट लांच हुई।महादेवी वर्मा की जयंती की पूर्व संध्या पर आयोजित इस कार्यक्रम में कालेज की प्राचार्या डॉक्टर विभा सिंह चौहांनभी मौजूद थी। नित्यानंद जी और सुधा जी ने महादेवी वर्मा पर गम्भीर व्यायख्यान दिए।मृदुला शुक्ल रश्मि भारद्वाज रजनी अनुरागी अंजू शर्मा और मेधा ने कविता पाठ किया। बली  सिंह और वीणा जैन का धन्यवाद।
Website -का लिंक 
 www.streedarpan.com
 
इसे एक बार जरूर देखें और सुझाव दें ।आप हमें निःसंकोच सम्पर्क कर सकते है।

 

error: Content is protected !!