Monday, June 17, 2024
Homeगतिविधियाँ"वहीदा रहमान को मिला दादा साहब फाल्के पुरस्कार"

“वहीदा रहमान को मिला दादा साहब फाल्के पुरस्कार”

नई दिल्ली, 17 अक्टूबर। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने आज यहां हिंदी फिल्मों की मशहूर अभिनेत्री वहीदा रहमान को भारतीय फिल्म जगत में उनके बहुमूल्य अवदान के लिए दादा साहब फ़िल्म पुरस्कार से सम्मानित किया ।
श्रीमती मुर्मू ने विज्ञान भवन में 69 वें राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार समारोह में यह सर्वोच्च पुरस्कार प्रदान किया।
85 वर्षीय वहीदा रहमान ने जब यह पुरस्कार ग्रहण किया तो हाल तालियों की गड़गड़ाहट से भर गया और पूरे सभागार में सभी लोगों ने खड़े होकर उनका अभिवादन किया। जब उनका नाम पुकारा गया तब भी सभी लोग सभागार में खड़े होकर तालियां बजाते रहे।
पुरस्कार ग्रहण करते हुए वहीदा रहमान भावुक सी हो गईं और उन्होंने अपने फिल्मी सफर को याद किया तथा उन्होंने कहा कि वह इस पुरस्कार को पूरी फिल्म इंडस्ट्री को शेयर करती हूं क्योंकि कोई फ़िल्म एक व्यक्ति नहीं बनता। मेरी फिल्मों में सफलता का श्रेय निर्माता निर्देशक संवाद लेखक गीतकार संगीतकार को ही नहीं बल्कि मेकअप आर्टिस्ट और ड्रेस डिज़ाइनर को भी जाता है। उन्होंने कहा कि यह पुरस्कार ग्रहण करते हुए वह न खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहीं हूँ बल्कि बहुत विनम्र भाव से इसे प्राप्त कर रही हूं। उन्होंने कहा कि वह एक अच्छा मनुष्य होना चाहती हैं।
इसके बाद राष्ट्रपति मुर्मू ने भी वहीदा रहमान को विशेष बधाई दी और कहा कि वहीदा जी ने अपनी फिल्मों से लोगों को न केवल प्रेरित किया है बल्कि अपने किरदार और अभिनय से स्त्रियों का सशक्तिकरण किया है।
सूचना प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने भी वहीदा जी के फिल्मों में योगदान को रेखांकित किया।सूचना प्रसारण सचिव अपूर्व चंद्रा ने समारोह के प्रारंभ में स्वागत भाषण में वहीदा रहमान के फिल्मी सफर का उल्लेख करते हुए उनकी कई फिल्मों को याद किया।
समारोह में वहीदा रहमान के फिल्मी सफर पर एक लघु फ़िल्म भी दिखाई गई जिसमें सीआईडी, गाइड, प्यासा, चौदहवीं का चांद जैसी फिल्मों के दृश्य दिखाए गए। उस फिल्म में आशा पारेख और चिरंजीवी के वहीदा जी के बारे में विचारों को भी फिल्माया गया था।
3 फरवरी 1938 को आंध्रप्रदेश में जन्मी श्रीमती वहीदा को यह पुरस्कार दिया गया तो सभागार में बैठे लोगों को कालजयी “गाइड” फ़िल्म की “रोजी” और तीसरी कसम की “हीराबाई” की बहुत याद आयी। जिसका किरदार वहीदा रहमान ने निभाया था।
वहीदा रहमान ने 1956 में “सीआईडी” फ़िल्म से हिंदी फिल्मों में प्रवेश किया था। उन्हें पद्मविभूषण सम्मान से भी नवाजा जा चुका है।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

error: Content is protected !!